मुंबई,| विवादों से घिरे निजी बैंक आईसीआईसीआई ने बैंक की प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर पर लगे अनियमितता के आरोपों पर शेयर बाजार नियामक, सेबी द्वारा जारी कारण बताओ नोटिस का जवाब दे दिया है।

इस जवाब में आईसीआईसीआई बैंक ने कहा है कि वह इस मामले को नियामक की सहमति से सुलझाने के तंत्र के जरिए सुलझाना चाहता है।

शेयर बाजार नियामक मामलों को अदालत से बाहर आपसी सहमति से सुलझाने का रास्ता देता है, जिसमें आरोपों को न तो स्वीकार किया जाता है और न ही अस्वीकार किया जाता है।

सेबी की निदेशक मंडल की सालाना बैठक के बाद इस बारे में पूछे जाने पर सेबी प्रमुख अजय त्यागी ने कहा, आईसीआईसीआई (मुद्दे) पर मेरी जानकारी में बैंक द्वारा जवाब मिलने की बात है। इसलिए हम उसकी जांच करेंगे।

सहमति से मामला सुलझाने की बात पर त्यागी ने अनभिज्ञता जताई, लेकिन उनकी उपस्थिति में ही सेबी के दूसरे अधिकारी ने इस आवेदन की पुष्टि की।