भारतीय माइक्रो प्लेटफॉर्म Koo App अब सार्वजनिक डोमेन में “द येलो टिक” की प्रक्रिया शुरू हो चुकी हैं।  इसके लिए कंपनी ने अब एमिनेंस मानदंड भी जारी कर दिया है। कू ने येलो टिक वेरिफिकेशन को एमिनेंस नाम दिया है। आमतौर पर सोशल मीडिया पर कोई यूजर्स की प्रोफाइल आधिकारिक है या नहीं, इसके लिए ब्लू टिक, येलो टिक का इस्तेमाल होता है। इतना ही नहीं बल्कि इसमें  कू के प्रतिद्वंदी एप ट्विटर पर ब्लू टिक मिलता है। आम में से कई लोग कू का इस्तेमाल कर रहे होंगे जिनमें से अधिकतर लोग येलो टिक के साथ वेरिफाई होना चाहते होंगे। 
इसका आवेदन करने के लिए Koo ने अपने एक आधिकारिक बयान में बताया है कि  वह येलो टिक के लिए अपने सभी यूजर्स का स्वागत करता है। कंपनी ने कहा है कि वह हर साल मार्च, जून, सितंबर और दिसंबर में वेरिफिकेशन क्राइटेरिया की जांच करता है। कंपनी का दावा है कि अभी तक जितने यूजर्स ने येलो टिक के लिए अप्लाई किया है, उनमें से एक फीसदी का पंजीकरण पूरा हो भी चूका है। सबसे जरूरी और महत्वपूर्ण प्रक्रिया जानिए की आखिर इसमें आपको कैसे अप्लाई करना है, तो सबसे पहले आप एप के जरिए ही अप्लाई कर सकते हैं। दूसरा यह कि आप [email protected] पर ईृ-मेल करके वेरिफिकेशन करवा सकते हैं। अप्लाई करने के 10 दिनों के भीतर आपको एक रिप्लाई मिलेगा, हालांकि कुछ मामलों में देरी भी हो सकती है। इसकी शर्तों को आप https://www.kooapp.com/eminence पर जाकर पढ़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here