स्वतंत्रता दिवस को लेकर राजधानी दिल्ली में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। लाल किले को अभेद्य किले में तब्दील कर दिया गया है। शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फहराया। कोरोना संकट के कारण इस बार समारोह में खास बदलाव किए गए। पूरे समारोह के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया। लाल किले के आसपास पांच स्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया गया है, जिसमें एनएसजी के स्नाइपर, एलीट स्वाट कमांडो और काइट कैचर्स की टीम भी तैनात रही।

लाल किला परिसर के आसपास 300 से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाकर उनकी फुटेज को हर सेकेंड मॉनीटर किया गया। इसके अलावा करीब चार हजार सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया है। पुलिस ने पुरानी दिल्ली और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन की सुरक्षा बढ़ा दी। सुरक्षाकर्मियों को रेलवे स्टेशन के साथ ही रेलवे ट्रैक पर तैनात किया गया। 15 अगस्त की सुबह 6: 45 से 8: 45 तक लालकिले के पास से गुजरने वाले ट्रैक पर आवाजाही बंद रही।