[ad_1]

नयी दिल्ली 11 नवम्बर (सन्मार्ग लाइव) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि सरकार आयकर क्षेत्र में सुधार, प्रदर्शन और बदलाव के दृष्टिकोण के साथ काम कर रही है जिससे आयकरदताओं में कर के आतंक के बजाय पारदर्शिता के बल पर भरोसा पैदा हुआ है।
श्री मोदी ने बुधवार को ओड़िशा के कटक में आयकर अपीली न्याधिकरण की कटक पीठ के कार्यालय सह आवासीय परिसर का वीडियो कांफ्रेन्स से उद्घाटन करते हुए कहा , “ गुलामी के लंबे कालखंड ने करदाता और कर वसूलने वाले दोनों के रिश्तों को शोषित और शोषक के रूप में ही विकसित किया। दुर्भाग्य से आज़ादी के बाद हमारी जो टैक्स व्यवस्था रही उसमें इस छवि को बदलने के लिए जो प्रयास होने चाहिए थे, वो उतने नहीं किए गए।”
उन्होंने कहा कि अब सरकार ने इस व्यवस्था को बदला है और इस दिशा में निरंतर कदम उठाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा , “ पहले की सरकारों के समय शिकायतें होती थीं ‘टेक्स टेररिज्म’ की। आज देश उसे पीछे छोड़कर ‘टेक्स ट्रांसपेरेंसी’ की तरफ बढ़ रहा है। यह बदलाव इसलिए आया है क्योंकि हम सुधार, प्रदर्शन और बदलाव की अप्रोच के साथ आगे बढ़ रहे हैं। ”
आयकरदाताओं में सरकार के बढते विश्वास का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “अब सरकार की सोच ये है कि जो इनकम टैक्स रिटर्न फाइल हो रहा है, उस पर पहले पूरी तरह विश्वास करो। इसी का नतीजा है कि आज देश में जो रिटर्न फाइल होते हैं, उनमें से 99.75 प्रतिशत बिना किसी आपत्ति के स्वीकार कर लिए जाते हैं। ये बहुत बड़ा बदलाव है जो देश के टैक्स सिस्टम में आया है। ”
संजीव
जारी सन्मार्ग

ये भी पढ़ें …..

Source: Univarta.