प्रवर्तन निदेशालय (एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट) के सामने करोड़ों के लेन देने के मामले में शुक्रवार को पेश हुईं अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने पूछताछ में तमाम चीजों के याद न होने की बात कही है। कानूनी जानकार कहते हैं कि किसी मामले में आरोपित व्यक्ति अगर किसी बात की याद न होने की बात कहते हैं तो पूछताछ के दौरान उस पर कोई बात कहने का दबाव नहीं डाला जा सकता और ऐसे में जांचकर्ता एजेंसी का दायित्व बनता है कि वह अभियुक्त पर लगाए आरोप साबित करे और उनके सबूत जुटाए।

सुशांत सिंह राजपूत की कथित आत्महत्या मामले में रिया चक्रवर्ती उनके भाई शौविक व अन्य पर बिहार में नामजद रिपोर्ट दर्ज हुई है। ये एफआईआर अब सीबीआई जांच का हिस्सा है। बिहार में दर्ज रिपोर्ट में 15 करोड़ रुपयों के कथित गबन का मामला सामने आने पर ही प्रवर्तन निदेशालय भी सक्रिय हुआ।