दिल्ली सरकार लगातार कोरोना जांच का दायरा बढ़ा रही है। इसी कड़ी में सरकार ने निर्णय लिया है कि अब रिक्शा, ऑटो और टैक्सी चालकों की भी कोरोना की जांच की जाएगी। इसके लिए सभी जिलों में कैंप लगाए जाएंगे।

सरकार की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि इन सभी लोगों का जनसंपर्क काफी अधिक रहता है। ऐसे में  संक्रमित होने की भी संभावना भी बढ़ जाती है। चालकों की कोरोना जांच के लिए एक सर्विलांस ग्रुप का गठन किया जाएगा।
ग्रुप का नेतृत्व संबंधित जिलों के जिलाधिकारी करेंगे। कोरोना संक्रमण की जांच के लिए अलग-अलग इलाकों में कैंप लगाए जाएंगे। कैंपों में एंटीजन टेस्ट के जरिये रिक्शा, ऑटो और टैक्सी चालकों की कोरोना की जांच की जाएगी।
स्वास्थ्य विभाग यह काम परिवहन विभाग, दिल्ली पुलिस और जिला प्रशासन के साथ मिलकर करेगा। सभी लोगों को चिह्नित करने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी। जांच में जो लोग पॉजिटिव पाए जाएंगे उन्हें तत्काल आइसोलेट किया जाएगा और संपर्क में आए लोगों की पहचान की जाएगी।