[ad_1]

नई दिल्ली,

बिहार चुनाव में एनडीए की जीत हो गई है और अब नई सरकार बनने की तैयारी की जा रही है. इस बीच शपथ ग्रहण को लेकर जदयू नेता केसी त्यागी ने बड़ा बयान दिया है. केसी त्यागी के मुताबिक, नीतीश कुमार दिवाली के बाद मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं. आपको बता दें कि नीतीश कुमार अब जब शपथ लेंगे, तो बतौर मुख्यमंत्री वो सातवीं बार पद संभालेंगे. नीतीश कुमार ने सबसे पहले साल 2000 में सीएम के तौर पर शपथ ली थी और उसके बाद 2005, 2010, 2015, 2015, 2017 में शपथ ली थी.

बिहार में लगातार एनडीए में जश्न का माहौल है. पटना में जदयू और भाजपा के कार्यकर्ता जश्न मना रहे हैं, तो वहीं दिल्ली में बीजेपी मुख्यालय में शाम को पीएम मोदी के स्वागत की तैयारी हो रही है. बिहार में इस बार बीजेपी के खाते में 74 सीटें आई हैं, जबकि जदयू के पास सिर्फ 43 सीटें हैं. जबकि HAM-VIP को 4-4 सीटें मिली हैं.

मुख्यमंत्री पद को लेकर जारी है बयानबाजी
बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए को जीत मिली है और एक बार फिर सरकार बनने जा रही है. लेकिन अब मुख्यमंत्री पद को लेकर मंथन शुरू हो गया है. लगातार इस मसले पर बयान सामने आ रहे हैं, अब एनडीए के साथी और हम पार्टी के प्रमुख जीतन राम मांझी ने भी कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही होंगे.

जीतन राम मांझी ने कहा कि एनडीए की जीत नीतीश कुमार की अगुवाई में हुई है, बीजेपी ने पहले ही कह दिया था कि नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री होंगे. ऐसे में हार-जीत मायने नहीं रखती है, बिहार में एनडीए ने एकजुट होकर चुनाव लड़ा है.

केंद्रीय मंत्री और बिहार बीजेपी के नेता गिरिराज सिंह ने भी इस विषय पर बयान दिया. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ही बिहार में एनडीए के नेता हैं, ऐसे में सीटें कम या ज्यादा होने से कोई फर्क नहीं पड़ता है. गिरिराज ने कहा कि तेजस्वी यादव लगातार नीतीश के खिलाफ बोल रहे थे, इसलिए उन्हें कुछ बढ़त मिली. लेकिन अब बिहार के लोगों ने उन्हें आराम करने का मौका दिया है.