लॉकडाउन के बीच पहली बार गृह जनपद गोरखपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ ही विकास परियोजनाओं की भी नब्ज टटोली। पहले स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी लेते हुए कहा कि वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की व्यवस्था बढ़ाई जाए।

उन्होंने कहा कि कोरोना से संक्रमित मरीज को इलाज मिलने में थोड़ी भी देर नहीं होनी चाहिए। क्वारंटीन सेंटरों में गुणवत्तायुक्त अच्छा भोजन उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने आश्वस्त किया कि जल्द ही पर्याप्त संख्या में सी-बी नेट मशीनों के साथ ही जांच की व्यवस्था भी बढ़ाई जाएगी।
मुख्यमंत्री ने बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य और सीएमओ से कहा कि वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की व्यवस्था बढ़ाई जाए। बीमार-बुजुर्ग और बच्चों पर विशेष नजर रखी जाए। प्राइवेट अस्पतालों में भी इमरजेंसी वाले ऑपरेशनों को बढ़ावा दिया जाए, साथ ही वहां के डॉक्टर और नर्स समेत सभी पैरामेडिकल स्टाफ को भी सुरक्षा के प्रति जागरूक किया जाए।