कश्मीर में कोरोना संक्रमण के प्रसार से बिगड़े हालात के कारण इस साल छड़ी मुबारक में श्रीनगर में विभिन्न मंदिरों में सामूहिक पूजन नहीं होगा। संभवतः तीन अगस्त को बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए छड़ी मुबारक को श्रीनगर से हेलीकॉप्टर से ही पवित्र गुफा तक ले जाया जाएगा।

इसमें सीमित संत ही शामिल होंगे, क्योंकि पारंपरिक पहलगाम ट्रैक को इस साल कोविड संकट के चलते क्लीयर नहीं किया गया है। छड़ी मुबारक 20 जुलाई से शुरू हो रही है। अमरनाथ यात्रा को लेकर संशय बरकरार है। प्रशासनिक स्तर पर यात्रा को 21 जुलाई को शुरू करना प्रस्तावित है। लेकिन अभी तक यात्रा की तिथि घोषित नहीं की गई है।
छड़ी मुबारक स्वामी अमरनाथ के महंत दीपेंद्र गिरी ने बताया कि श्रीनगर में कोरोना संकट के कारण दोबारा लॉकडाउन लगाना पड़ा है। धार्मिक स्थलों में सामूहिक गतिविधियां बंद हैं, जिससे छड़ी मुबारक की सामूहिक पूजा करना संभव नहीं है। वैसे धार्मिक स्थलों में दैनिक गतिविधियां चल रही हैं।