श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर मंदिर मार्ग स्थित सुप्रसिद्ध लक्ष्मी-नारायण बिरला मंदिर हफ्ते भर पहले से रोशनी में नहा उठता था लेकिन इस बार जन्माष्टमी से एक दिन पहले तक यहां सन्नाटा पसरा है। कोविड-19 के खतरे के चलते यहां श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की कोई खास तैयारी नहीं हुई है। मंदिर प्रशासन ने बताया कि 12 अगस्त को यहां केवल श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व की औपचारिकता भर पूरी की जाएगी।

इस बार कोरोना वायरस महामारी के कारण राजधानी में इस्कॉन मंदिरों को छोड़कर अन्य बड़े मंदिरों में बड़े आयोजन नहीं हो रहे हैं। रोहिणी, पंजाबी बाग, लाजपत नगर और चांदनी चौक स्थित इस्कॉन मंदिरों में भी जन्माष्टमी के दिन आम भक्तों को जाने पर मनाही है। लक्ष्मी-नारायण बिरला मंदिर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की झांकियां पूरी दिल्ली में प्रसिद्ध हैं। इस बार यहां का आकर्षण गायब है।