तालिबान ने सोमवार को कहा, कश्मीर भारत का अंदरूनी मामला है और हम इस मुद्दे पर पाकिस्तान का साथ नहीं देंगे। तालिबान ने इसके साथ ही सोशल मीडिया पर चल रहे उन तमाम दावों को भी खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि वह कश्मीर में पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद का हिस्सा बन सकता है।

तालिबान के सियासी मोर्चे इस्लामिक एमिरेट्स ऑफ अफगानिस्तान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने सोमवार को ट्वीट किया, कश्मीर में जारी पाकिस्तान प्रायोजित जिहाद में तालिबान के शामिल होने की खबरें गलत हैं। कश्मीर पूरी तरह भारत का अंदरूनी मामला है और तालिबान किसी भी देश के अंदरूनी मामलों में दखल नहीं देता।
एक दिन पहले सोशल मीडिया पर ऐसी कई पोस्ट आईं थीं जिनमें तालिबान प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद के हवाले से कहा जा रहा था कि कश्मीर मुद्दा हल होने तक भारत के साथ दोस्ती संभव नहीं। इसमें यह भी दावा किया गया था कि तालिबान काबुल पर कब्जा करने के बाद कश्मीर को भी काफिराें से छीन लेगा।