आजमगढ़। जनपद के महारागंज थाना क्षेत्र के  सिकंदरपुर आईमा में छेड़खानी के विरोध पर दलित बस्ती पर हुए हमले में सीएम योगी आदित्यनाथ की सख्ती के बाद एसओ महाराजगंज अरविंद पांडेय को निलबिंत कर दिया गया है। 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए चार टीमें गठित की गई हैं। फरार आरोपियों पर 25 हजार का इनाम घोषित किया गया है।

महाराजगंज थाना क्षेत्र के सिकंदरपुर आयमा गांव में ट्यूबेल पर पानी लेने जा रही दलित बालिकाओं से छेड़खानी का विरोध करने पर समुदाय विशेष के लोगों ने बुधवार देर शाम को इकट्ठा होकर अनुसूचित बस्ती पर धावा बोल दिया था। महिलाओं और बच्चों को भी लाठी-डंडे और धारदार हथियार से  जमकर पीटा। लगभग एक दर्जन लोग घायल हो गए थे।
इसमें सोनू (20) पुत्र सुभाष, प्रमिला (30) पत्नी राजकुमार, आनंद कुमार (25) पुत्र लालबहादुर, अंकिता (13) पुत्री विनोद, लालबहादुर (52) पुत्र रामलवट, सुधीर (18) पुत्र विनोद, विकास (17) पुत्र बालचंद, सुबोध कुमार (19) पुत्र विनोद कुमार, अनीता (35) पत्नी दिनेश, गुड्डू (35) पुत्र मूरत, मनजीत (12) पुत्र गुड्डू व अमरसी देवी (50) पत्नी दरसू आदि शामिल थे। गांव में पुलिस के साथ पीएसी भी तैनात की गई थी।