दिल्ली में रविवार सुबह भारी बारिश के कारण सड़कों पर पानी भर आया। मिंटो रोड पर तो हालत ऐसी हो गई कि गहरे जलजमाव के बीच सड़क पर एक शव बहता हुआ नजर आया।

शव की पहचान 60 वर्षीय कुंदन के रूप में की गई है। वह टाटा एस (छोटा हाथी) गाड़ी से कनॉट प्लेस की ओर जा रहा था। भारी बारिश के कारण उसकी गाड़ी मिंटो पुल के नीचे फंस गई।
उसने वाहन को पानी से बाहर निकालने की कोशिश की लेकिन और गहराई में चला गया।  माना जा रहा है कि इसी दौरान डूब जाने के कारण उसकी मौत हो गई। शव पर किसी तरह के बाहरी चोट के निशान नहीं है।
इस मामले को लेकर उत्तरी दिल्ली के मेयर जय प्रकाश ने कहा कि इस तरह की घटनाएं तब तक होती रहेंगी जब तक कि दिल्ली सरकार अपने गैरजिम्मेदाराना रवैये को नहीं छोड़ देतीं।

मुख्यमंत्री को इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए और मृतक के परिजनों के लिए सहायता राशि की घोषणा करनी चाहिए। सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि ऐसी घटनाएं दोबारा न हों।

वहीं आप नेता संजय सिंह ने कहा कि जलभराव में फंसी गाड़ी को निकालने के दौरान कुंदन की मौत हो गई। दिल्ली में इस समस्या से निपटने के लिए नगर निगम, पीडब्ल्यूडी और जल बोर्ड जैसी कई एजेंसियां काम कर रही हैं, जिसके कारण यह पता लगा पाना मुश्किल है कि किसी विशेष स्थान पर जलभराव के लिए कौन जिम्मेदार है।