आज बेहद पावन और हर्षोल्लास का त्यौहार कृष्ण जन्माष्टमी पूरे भारत में धूम धाम से मनाया जा रहा है। कोरोना संक्रमण के माहौळ पर भक्ति का भाव भारी है,बाज़ारों में बेशुमार रौनक है लोगों में खूब उत्साह देखा जा सकता है। लेकिन जब तक आज कान्हा के जन्मस्थली मथुरा की बात न हो तो क्या इस पर्व की धूम पूरी होती है। जी हाँ आज  भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली मथुरा में आधी रात को कृष्ण कन्हाई घर में जन्म लेंगे, लेकिन इसकी भक्ति की शक्ति और लोगों में उनके जन्म की तैयारियों का उत्साह अभी सोमवार सुबह से ही देखा जाने लगा है। वृंदावन के राधारमण मंदिर में सुबह वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच सेवायतों ने ठाकुरजी का पूजन किया अर्चन कर लिया है। कान्हा को स्नान कराकर यहाँ पूजा आरती मिष्ठान भोग किया जा चुका है। 
प्रातः जो कृष्णा का अभिषेक हुआ किया गया है उसमें औषधियों से निर्मित पंचामृत इस्तेमाल किया गया,जिसमें पंचामृत में मनोर, दूध-दही, शहद और बूरा के साथ जड़ी बूटियों का प्रयोग किया गया है.इसके अलावा मथुरा के  प्राचीन शाहजी मंदिर में सेवा देने वाले पंडितों ने आज बताया कि ठाकुरजी का महाभिषेक दूध, दही, शहद, बूरा, इत्र से किया। इस दौरान मंदिर परिसर लड्डू गोपाल के जयकारों से गूंज उठा। आज सुबह से ही यहाँ का नाज़ारा बेहद ख़ास है। 
आपको बताते हैं अब मथुरा के द्वारिकाधीश मंदिर का भक्तिपूर्ण माहौल जहाँ आज सुबह विधि विधान से कान्हा जन्मोत्सव मनाया जा रहा है। यहां सेवा कारनें वाले लोगों ने मंदिर के पट खुलते ही सुबह भगवान द्वारिकाधीश का पंचामृत अभिषेक किया। इस अवसर पर द्वारिकाधीश के दर्शन करने के लिए भक्तों की हज़ारो की संख्या में भीड़ पहुंची है। राधा दामोदर मंदिर में भी जन्मोत्सव की भारी धूम मची है। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर जन-जन के आराध्य ठाकुर श्रीबांकेबिहारी महाराज सुंदर आकर्षित पोशाक धारण कर भक्तों को दर्शन देंगे। पीत रंग की इस पोशाक को कोलकाता के कुशल कारीगरों द्वारा बनाया गया है।आपको बतादें की बांके बिहारी की पोशाक एक लम्बे समय से तैयार की जाती है ताकि आज के दिन कृष्णा की खूबसूरती विश्व की किसी भी सुन्दर चीज के आगे हलकी न हो। 

आज ठाकुर श्रीबांकेबिहारी मंदिर में सोमवार को रात 12 बजे ठाकुर बांकेबिहारीजी महाराज के का अभिषेक किया जाएगा। उसके बाद 1:56 बजे बाद मंगला आरती होगी। उसके बाद 31 अगस्त की सुबह 2 बजे से 5:30 तक श्रद्धालु दर्शन लाभ ले सकेंगे तथा नंदोत्सव दर्शन प्रात: 7:45 से 12 बजे तक होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here