नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी शाहिद आफरीदी की संस्था की मदद करने के बाद लोगों के निशाने पर आए भारत के अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह का कहना है कि जरुरत पड़ने पर वह देश के लिए बंदूक भी उठा सकते हैं। हरभजन ने कहा कि मैं इस देश में जन्मा हूं और यहीं मरूंगा। मैं अपने देश के लिए 20 वर्षों से अधिक समय से खेल रहा हूं और भारत के लिए कई बार मुकाबले जीते हैं। कोई यह नहीं कह सकता कि मैंने कभी देश के खिलाफ कुछ गलत किया है। आज या कल कभी भी देश को मेरी जरुरत होगी, चाहे सीमा पर ही क्यों ना हो मैं वो पहला व्यक्ति हूं जो अपने देश के लिए बंदूक भी उठा लूंगा।

उन्होंने कहा कि आफरीदी ने हमारे देश और प्रधानमंत्री के लिए जो कहा वो किसी भी कीमत पर स्वीकार नहीं किया जा सकता है। ईमानदारी से कहूं तो आफरीदी ने हमसे उनकी चैरिटी की मदद करने की अपील की थी और अच्छे भाव से इंसानियत के नाते हमने उनकी मदद की।