कोरोना वायरस के लगातार सामने आते मामलों को लेकर देश में एक बार फिर लॉकडाउन लगने की अटकलों को सरकार ने विराम लगाया है। मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने फिर से लॉकडाउन का ताला नहीं लगने की पुष्टि की है।

उन्होंने कहा कि देश में फिलहाल लॉकडाउन की जरूरत नहीं है। राज्यों के साथ कंटेनमेंट जोन पर फोकस बढ़ाने का काम किया जा रहा है। वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय के ही अन्य अधिकारियों ने बताया कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामले को लेकर माइक्रो लॉकडाउन का अधिकार राज्यों के पास है।
एक वरिष्ठ निदेशक ने बताया कि अगर किसी राज्य के किसी एक निश्चित इलाके, गांव या शहर में केस तेजी से बढ़ते हैं तो वे उक्त इलाके में कुछ दिन का लॉकडाउन लगा सकते हैं। जैसे मध्यप्रदेश ने हर रविवार, उत्तर प्रदेश में शनिवार और रविवार की नीति पर काम शुरू किया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के ही अधिकारियों का कहना है कि यूपी, बिहार, एमपी और महाराष्ट्र की तरह दिल्ली में भी कुछ दिन या वीकेंड पर लॉकडाउन की फिलहाल जरूरत नहीं लग रही है। क्योंकि पिछले 20 से 25 दिन में यहां स्थिति में सुधार देखने को मिल रहा है। जांच तेजी से बढ़ी है तो संक्रमण का ग्रोथ रेट भी काफी कम हुआ है। ऐसे में राज्य को फिलहाल कंटेनमेंट जोन पर ही सख्ती दिखाने की सलाह दी है।