चीन के वुहान से शुरू हुआ कोरोना वायरस संक्रमण दुनिया के 200 से ज्यादा देशों में फैल चुका है। पूरी दुनिया को जिस चीज का बेसब्री से इंतजार है, वह है कोरोना की वैक्सीन। इसको लेकर दुनियाभर के वैज्ञानिक लगे हुए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, दुनियाभर में 145 से ज्यादा वैक्सीन पर काम चल रहा है, जिनमें से 17 वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल के विभिन्न स्टेज में है। दूसरी ओर इसके इलाज के लिए डेक्सामेथासोन, फैबिफ्लू जैसी कुछ दवाओं के भी कारगर होने का दावा किया जा रहा है।

बहुत सारे देश पिछले छह महीने से कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में हैं। भारत, ब्रिटेन, अमेरिका, रूस, चीन जैसे देशों में इसकी वैक्सीन तैयार की जा रही है। वैसे तो वैक्सीन तैयार किया जाना एक लंबी प्रक्रिया होती है, जिसमें सालों लग जाते हैं। लेकिन कोरोना महामारी का संकट देखते हुए दुनियाभर की सरकारों ने क्लीनिकल ट्रायल के लिए तय नियमों और समयसीमा में थोड़ी ढील दी है।