बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने प्रवासी मजदूरों की दुर्दशा के लिए भाजपा की केंद्र सरकार व कांग्रेस दोनों को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि मजदूरों के मुद्दे पर दोनों ही पार्टियां घिनौनी राजनीति कर रही हैं। वह रविवार को मीडिया को संबोधित कर रही थीं।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार व कांग्रेस ने मजदूरों की लगातार अनदेखी की है जिसके कारण उन्हें रोजगार के लिए अलग-अलग शहरों में जाना पड़ा और अब लॉकडाउन के कारण वो भूखे-प्यासे सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलने को मजबूर हैं।
उन्होंने कहा कि मजदूरों के साथ जानवरों जैसा व्यवहार किया जा रहा है। अभी तक जहां मजदूर काम कर रहे थे उनसे काम ज्यादा लिया जाता था और वेतन कम दिया जाता था। उन्होंने कहा कि बसपा ने हमेशा ही मजदूरों के भले के लिए काम किया। हम उन्हें बेरोजगारी भत्ता नहीं रोजगार देते थे।