पाकिस्तान में स्थित भारतीय उच्चायोग के दो कर्मचारियों को सोमवार को एक दिन हिरासत में रखने के बाद इस्लामाबाद में छोड़ दिया गया। वहीं, अब हिरासत में कर्मचारियों के साथ हुई बदसलूकी को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। सूत्रों ने बताया है कि हिरासत में कर्मचारियों के साथ मारपीट की गई और इन्हें यह कबूल करने को कहा गया कि ये लोग एक दुर्घटना में शामिल हैं।

सूत्रों ने बताया है कि भारतीय उच्चायोग में ड्राइवर के रूप में काम करने वाले दो कर्मचारियों को लगभग 15 से 16 हथियारबंद लोगों द्वारा लगभग 8.30 से 8.45 बजे सुबह के बीच उच्चायोग के करीब पेट्रोल पंप से उठाया गया। फिर उनकी आंखों पर पट्टी और हाथों में हथकड़ी लगाई गई।