राम मंदिर भूमिपूजन की शुरुआत आज हो चुकी है। भूमिपूजन के लिए तीन दिनों तक चलने वाले अनुष्ठान की शुरुआत आज वैदिक मंत्रों के साथ की गई। भूमिपूजन के लिए मेहमानों को न्योता भेजा जा चुका है। 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुभमुहूर्त में ठीक 12 बजकर 15 मिनट 15 सेकंड के बाद 32 सेंकड में मंदिर की पहली ईंट रखेंगे।

अयोध्या भूमि विवाद मामले के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी को भी भूमि पूजन का आमंत्रण भेजा गया है। आमंत्रण पत्र पर प्रधानमंत्री मोदी के साथ विशिष्ट अतिथि के तौर पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का भी नाम दिया गया है। इसी के साथ उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का नाम भी आमंत्रण पत्र पर दिया गया है।
आमंत्रण पत्र पर भूमि पूजन का समय बुधवार यानी 5 अगस्त दोपहर 12:30 बजे दिया गया है। बता दें इस कार्यक्रम के लिए केवल कुछ चुनिंदा लोगों को ही आमंत्रण दिया गया है। इसमें से एक अयोध्या भूमि विवाद मामले के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी भी हैं।
आमंत्रण मिलने पर  इकबाल अंसारी ने कहा कि यह भगवान राम की इच्छा थी जो मुझे पहला निमंत्रण मिला। मैं इसे स्वीकार करता हूं।