लखनऊ : यूपी अब जल्द अत्याधुनिक तकनीकियों को इजात करेगा। यूपी सरकार ने इस कड़ी में बड़ी सुचना दी हैं। जिसके चलते अब यूपी में ब्रह्मोस मिसाइल का निर्माण शुरू किया जाएगा। इस परियोजना को हरी झंडी भी यूपी सीएम द्वारा मिल चुकी है।  ब्रह्मोस एयरोस्पेस के महानिदेशक डॉ सुधीर कुमार मिश्रा ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि यूपीईडा के सीईओ और अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी को भेजे गए एक पत्र में रक्षा गलियारे में परियोजना के लिए 200 एकड़ जमीन की ज़रुरत पड़ने के लिए मांग की गई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़  ब्रह्मोस एयरोस्पेस को जमीन उपलब्ध कराने का फैसला किया गया है। एयरोस्पेस के प्रतिनिधिमंडल ने भी आज सीएम योगी आदित्यनाथ से भेट की है। ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल दुनिया की एकमात्र अनूठी, सटीक और अत्याधुनिक क्रूज मिसाइल है। ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल को डीआरडीओ, भारत सरकार और एनपीओएम, रूस सरकार के संयुक्त उपक्रम ब्रह्मोस एरोस्पेस द्वारा परिकल्पित, विकसित एवं उत्पादित हो रहा है। भारतीय रक्षा बलों की तीनों सेवाओं के पास यह हथियार प्रणाली है, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पहले ही परियोजना को आगे बढ़ाने के लिए सहमति दे दी है।आपको बतादें की उत्तर प्रदेश में डिफेंस कॉरिडोर में ब्रह्मोस-एनजी के लिए उत्पादन सुविधा स्थापित करने का प्रस्ताव पेश किया गया है। जिसमें लिखा गया है कि राष्ट्रीय महत्व की परियोजना होने के नाते, इस तरह की सुविधा स्थापित करने की बेहद जरूरत है। ब्रह्मोस के नेक्स्ट जेनरेशन मिसाइल को बनाए जानें में लगभग 200 एकड़ ज़मीन की ज़रुरत पड़ेगी। योजना को तैयार करने के लिए 300 करोड़ रुपये की धनराशि निवेशित की जाएगी।

इस परियोजना में भारतीय सेना, नौसेना और वायु सेना द्वारा 35,000 करोड़ रुपये का ऑर्डर मूल्य निर्धारित किया गया है,इस पेश प्रस्ताव में ये भी सम्मिलित है किब्रह्मोस-एनजी मिसाइलों की संख्या 400 है, जिनकी कीमत लगभग 8,000 करोड़ रुपये है और अगले पांच वर्षों में इनकी डिलीवर भी होगी। इस तरह के आदेश के लिए भारतीय सेना और नौसेना से इस बारे में चर्च भी हो रही है। अगले पांच वर्षों में 10,000 करोड़ रुपये के अतिरिक्त निर्यात ऑर्डर की संभावना भी नजर आ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here