राज्य सरकार प्रवासी कामगारों व बेरोजगारों को रोजगार के अवसर मुहैया कराने के लिए कई योजनाएं ला रही है। इसके तहत खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के जरिए राज्य में स्वरोजगार के अवसर सृजित करने तथा बेरोजगारों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए ग्रामीण विकास की विभिन्न योजनाओं पर बल दिया जा रहा है।  इस कदम से प्रवासी कामगारों सहित बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार के अवसर खुलेंगे।

खादी बोर्ड ने इस क्रम में 12 योजनाओं व कार्यक्रमों की रूपरेखा तय की है। प्रमुख सचिव, खादी एवं ग्रामोद्योग डॉ. नवनीत सहगल ने बताया कि निर्धारित समय सारिणी के तहत आगामी एक से 7 माह की अवधि में विभिन्न योजनाओं के तहत 1,45,528 लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है।