नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के इस्तीफे की खबरों के बीच वह आज नेपाल की राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी से मिलने के लिए शीतल निवास पहुंचे। माना जा रहा है कि ओली आज देश को संबोधित कर सकते हैं। बता दें कि नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के वरिष्ठ नेतृत्व ने उनका इस्तीफा मांगा था। वहीं, आज कैबिनेट ने अहम फैसला लेते हुए संसद के बजट सत्र को स्थगित करने का फैसला लिया। बताया जा रहा है कि इस कैबिनेट बैठक में पीएम ओली मौजूद नहीं थे।

वहीं, बलुवतार में हुई कम्युनिस्ट पार्टी की स्थायी समिति की बैठक में पीएम ओली शामिल नहीं हुए। उनकी पार्टी के भीतर के वरिष्ठ नेता जैसे माधव कुमार नेपाल, झाला नाथ खनाल, बामदेव गौतम और नारायण काजी श्रेष्ठ के अलावा अन्य लोग प्रधानमंत्री से इस्तीफे की मांग करते रहे हैं।
दूसरी तरफ, नेपाल की राजधानी काठमांडू में सियासी ड्रामा जारी है। नेपाल सरकार ने संसद के चल रहे बजट सत्र को स्थगित (भंग किए बिना) करने का फैसला किया है। यह निर्णय बलुवतार में ओली के आधिकारिक निवास पर आयोजित कैबिनेट की बैठक में लिया गया।

सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) में विभाजन की खबरों के बीच बुधवार को पीएम ओली ने अपने प्रमुख करीबी नेताओं के साथ बैठक की। बता दें कि कल आयोजित स्थायी समिति की बैठक के दौरान, 18 में से 17 एनसीपी सदस्यों ने ओली के इस्तीफे की मांग की।