चंडीगढ़ :पंजाब की सत्ता चन्नी के हाथ आने के बाद अब राज्य में नए कैबिनेट का विस्तार होने जा रहा है। जिसके लिए आज मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी दिल्ली आये हुए हैं। ख़बरों में सुगबुगाहट है कि सरकार में जल्दी मंत्रियों का चुनाव होगा। कई पुराने मंत्रियों को नई कैबिनेट से बाहर किया जाएगा। हाईकमान और मुख्यमंत्री चन्नी मंत्रियों के नामों पर मंथन कर रहे हैं। रात को मुख्यमंत्री चन्नी पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आवास पहुंचे हैं। शनिवार तक नए मंत्रियों के नामों के फाइनल होने की उम्मीद है। अगले सप्ताह में मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह किया जाएगा।कांग्रेस नेतृत्व पंजाब में नई कैबिनेट के गठन को लेकर मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी को आगे रखकर ही फैसला ले रहा है। चन्नी को अपनी टीम बनाने की पूरी छूट दी गई है। यही कारण है कि प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू इस कवायद से दूर हैं। कहा जा रहा है कि शनिवार तक पंजाब के मंत्रिमंडल के नामों पर फाइनल लिस्ट जारी हो जाएगी। 


अगले सप्ताह शपथ ग्रहण समारोह होगा। कांग्रेस नेतृत्व चन्नी मंत्रिमंडल के लिए मंत्रियों के नाम थोपने के बजाय उन्हीं के सुझाए पर नामों को लेकर अन्य वरिष्ठ नेताओं से विचार विमर्श कर रहा है। पंजाब से जुड़े कुछ अन्य वरिष्ठ नेताओं के सुझाव भी चयन प्रक्रिया के लिए अहम माने जा रहे हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह की कैबिनेट में शामिल मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा भी की गई और उन्हीं नामों पर पुनर्विचार किया जा रहा है, जिनके साथ काम करने में चन्नी सहज होंगे। नेतृत्व कुछ नए चेहरे भी शामिल करना चाहता है, जो किसी गुट विशेष या विवादों से दूर थे। नेतृत्व का फोकस मंत्रिमंडल का ऐसा चेहरा सामने रखने का है, जिन्हें चुनाव में आगे रखकर चला जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here