आजमगढ़। सरकार की ओर से रेहड़ी वालों को बिना ब्याज के ऋण देने का निर्णय लिया है। इसके लिए सरकार के निर्देश पर डूडा कार्यालय की ओर से रेहड़ी वालों का सर्वे किया गया। सर्वे के बाद 1270 रेहड़ी वालों की सूची नगरपालिका को सौंपी गई है। ांच के बाद इनका रजिस्ट्रेशन कराकर इन्हें आईडी कार्ड उपलब्ध कराया जाएगा। उनसे महीने में एक निर्धारित शुल्क वसूलेगी। इन्हें रोजगार के लिए सरकार बिना व्याज का 10 हजार रुपये का लोन देगी।

कोरोना महामारी ने सबसे ज्यादा परेशान रेहड़ी वालों को किया है। इस दौरान घोषित लाक डाउन में उन्हें अपनी दुकान लगाने की इजाजत नहीं दी गई जिसके कारण उन्हें अपने परिवार का भरण पोषण करने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। इन सबके बीच सरकार ने रेहड़ी वालों को बिना व्याज के ऋण उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है ताकि वह भी उन्हें अपना रोजगार करने में किसी परेशानी का सामना न करना पड़े। सरकार के निर्देश पर पीओ डूूडा एक पांडेय की ओर से आजमगढ़ नगरपालिका क्षेत्र में सर्वे कराया गया। सर्वे के दौरान कुल 1270 रेहड़ी वालों की सूची तैयार की गई। उनकी ओर से इस सूची को नगरपालिका के पास भेज दिया गया है।