केजीएमयू में  गुरुवार को तीमारदारों ने जमकर बवाल काटा। पहले तो इलाज में लापरवाही का आरोप लगाकर सीनियर डॉक्टर भूपेंद्र सिंह से अभद्रता की। बीच-बचाव करने आए जूनियर डॉक्टर धर्मेंद्र को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। इससे उनकी एक हाथ की हड्डी टूट गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपी दो तीमारदारों को हिरासत में ले लिया है। केजीएमयू प्रशासन देर शाम तक मामले की जांच कराने की बात करता रहा।

ब्लड कैंसर से पीड़ित आलमबाग निवासी युवक को उसके घरवाले केजीएमयू के हीमेटोलॉजी विभाग लेकर आए। भर्ती से पहले डॉक्टरों ने मरीज की कई जांचें कराई, जिसमें ब्लड कैंसर की पुष्टि हुई। मरीज को सोमवार को शताब्दी अस्पताल के चौथे तल स्थित हीमेटोलॉजी विभाग में भर्ती किया गया। डॉक्टरों ने परिजनों से बताया कि मरीज के इलाज के लिए उसका बोनमैरो ट्रांसप्लांट करना ही अंतिम विकल्प होगा।

गुरुवार दोपहर बाद परिजन मरीज को सही इलाज न मिलने की शिकायत लेकर डॉक्टरों से भिड़ गए।