एयर इंडिया पायलट एसोसिएशन (आईसीपीए) ने बिना पैसे की छुट्टी (लीव विदआउट पे) स्कीम पर शिकायत करते हुए एयर इंडिया को लिखा है कि इस बारे में उनसे कोई सलाह मशविरा नहीं की गई। इसमें कहा गया कि जिसे एयर इंडिया की तरफ से दोनों के लिए बेहतर बताया जा रहा है कि उसका फैसला बिना पायलट की सलाह के ही किया गया है।

यह योजना कर्मचारियों को स्वैच्छिक आधार पर बिना वेतन छुट्टी पर जाने के लिए लाभ उठाने का है। इस योजना का बचाव करते हुए एयर इंडिया ने कहा था कि इससे कर्मचारियों को एक निश्चित समय के लिए आजादी मिलती है कि वे किसी और नियोक्ता के साथ जुड़ सके। दूसरी तरफ, इससे एयरलाइन को भी पैसे की बचत होगी। इससे पहले के बयान में एयरलाइन ने कहा था कि वित्तीय चुनौतियों को देखते हुए विमान सेवा जारी रहे इसे सुनिश्चित करने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं।