कानपुर एनकाउंटर के दौरान आठ पुलिसकर्मियों की शहादत के बाद पुलिस महकमा कुख्यात विकास दुबे की तलाश में जुट गया है। चौबेपुर थाने से उसे सहायता मिलने की बात सामने आने के बाद थाने के सभी कर्मचारी जांच के दायरे में हैं।

विकास दुबे के पुराने घर के मलबे में पुलिस टीम को तलाशी के दौरान तीन जिंदा बम मिले हैं। जिन्हें पानी में डाल कर नष्ट किया जा रहा है। एक दिन पहले भी पुलिस को विकास के घर में मिले बंकर से भारी मात्रा में विस्फोटक, कारतूस और हथियारों का जखीरा मिला था।
मंगलवार को आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह ने बिल्हौर पहुंचकर सीओ कार्यालय के सभी कर्मचारियों से पूछताछ की। उन्होंने बंद कमरे में एसओ बिल्हौर से पूछताछ की जिसके बाद सीओ कार्यालय बिल्हौर के कंप्यूटर व सीपीयू को सीज कर लिया गया है।