शार्प शूटर राकेश उर्फ हनुमान पांडे के पिता बलदत्त पांडे ने एसटीएफ के एनकाउंटर पर सवाल खड़े किए हैं। बलदेव के मुताबिक राकेश की मां बीमार है। उसका इलाज लखनऊ के पीजीआई में चल रहा था। दो दिन पहले उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। अपनी मां की देखरेख के लिए राकेश लखनऊ में रुका हुआ था। रविवार रात 3 बजे एसटीएफ की टीम पहुंची और उसे घर से लेकर चली गई।

 

 

उन्होंने बताया कि राकेश पर दर्ज सारे मुकदमे खत्म हो चुके हैं। वह कई वर्षों से आपराधिक गतिविधियों में सक्रिय नहीं था। उस पर कोई इनाम घोषित नहीं था। अचानक 50 हजार रुपये का इनाम घोषित कर उसकी हत्या कर दी गई। एसटीएफ के पुलिसकर्मियों पर सवाल खड़े करते हुए बलदत्त ने कहा कि निजी दुश्मनी के तहत एनकाउंटर दिखाकर हत्या की गई है।

बलदेव के मुताबिक शनिवार रात्रि 11 बजे राकेश से उनकी बात हुई थी। राकेश ने बताया कि पत्नी की तबीयत खराब है। दवा दिला दी है। कल वह डॉक्टर को दिखाने जाएगा। रविवार सुबह टीवी चैनल पर देखा कि उसके एनकाउंटर की खबर चल रही थी।