मुंबई:  महाराष्ट्र की बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) ने बिहार के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को 6 दिनों तक होम क्वारंटाइन करने के बाद मुक्त कर दिया है। इसकी जानकारी अधिकारियों ने शुक्रवार को दी। देर रात जारी किए गए एक आदेश में बीएमसी के अतिरिक्त नगर आयुक्त पी. वेलरासु ने तिवारी को होम क्वारंटाइन से रिहा करने की अनुमति दी।

गौरतलब है कि बिहार पुलिस ने गुरुवार को बीएमसी को एक पत्र लिखा था, जिसमें कहा गया था कि तिवारी को अपनी ड्यूटी फिर से शुरू करने के लिए अपने गृह राज्य में वापसी के लिए होम क्वारंटाइन से छोड़ा जाना चाहिए। बिहार पुलिस ने यह भी बताया कि मुंबई में अब उनकी आवश्यकता नहीं है और उनके वापसी की अवधि 7 दिनों के भीतर थी। बीएमसी ने तिवारी को 8 अगस्त तक मुंबई छोड़ने के लिए कहा है।

बता दें, बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच के लिए 2015 बैच के एक आईपीएस अधिकारी तिवारी 2 अगस्त को पटना से यहां पहुंचे थे। हालांकि कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार, उन्हें गोरेगांव में एसआरपीएफ गेस्ट हाउस में होम क्वारंटाइन कर लिया गया था।

गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में बिहार की नीतीश सरकार की सीबीआइ जांच की सिफारिश को केंद्र सरकार  ने स्वीकार कर लिया है। सीबीआइ ने मामला अपने हाथ में ले भी लिया है। इस बीच पटना पुलिस की टीम वापस लौट आई है। अब पटना पुलिस अपनी जांच से संबंधित सबूत सीबीआइ को सौंप देगी। इस बीच मामले की सीबीआइ जांच को लेकर सुप्रीम कोर्ट में भी अंतिम फैसला हो जाएगा।