जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी (जेकेएपी) ने शनिवार को कहा कि स्थायी निवासी प्रमाण पत्र (पीआरसी) और प्रवासी कार्ड को डोमिसाइल सर्टिफिकेट के रूप में इस्तेमाल किया जाना चाहिए। जेकेएपी के अध्यक्ष सैयद मोहम्मद अल्ताफ बुखारी ने त्वरित भर्ती प्रक्रिया का स्वागत किया है, जिसके तहत प्रदेश के स्थायी निवासियों के लिए लगभग 10,000 सरकारी नौकरियों का विज्ञापन निकाला जाएगा।
बुखारी ने हालांकि, सरकार से चयन प्रक्रिया के दौरान डोमिसाइल सर्टिफिकेट मांगने की बजाय अभ्यार्थियों के पीआरसी सर्टिफिकेट को बतौर प्रामाणिक आवासीय प्रमाण पत्र के रूप में स्वीकार करने की मांग की है।  उन्होंने कहा, “मैं जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल जी सी मुमूर् और पूरी त्वरित भतीर् समिति का स्वागत करता हूं जिन्हों