प्रधानमंत्री नरन्द्र मोदी ने 15वें भारत-यूरोपीय यूनियन (वर्चुअल) सम्मलेन को संबोधित करते हुए भारत-ईयू को नेचुरल पार्टनर बताया। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टनरशिप विश्व शांति और स्थिरता के लिए उपयोगी है और यह वास्तविकता आज की वैश्विक स्थिति में और भी स्पष्ट हो गई है। पीएम ने आगे कहा- मार्च में कोविड-19 के चलते हमें भारत-ईयू सम्मेलन को रद्द करना पड़ा था। लेकिन, यह अच्छा है कि हम वर्चुअल माध्यम से एक साथ आए हैं।

पीए मोदी ने कहा कि भारत और यूरोपीय संघ दोनों लोकतंत्र, बहुलवाद, समावेशिता, अंतरराष्ट्रीय संस्थानों के लिए सम्मान, बहुपक्षवाद, स्वतंत्रता और पारदर्शिता जैसे सार्वभौमिक मूल्यों को साझा करते हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के बाद वैश्विक आर्थिक जगत में नई चुनौतियां आई हैं। इसके समाधान के लिए लोकतांत्रिक देशों को अवश्य एक साथ आना चाहिए।