राजस्थान सरकार में चल रहे उठापटक के शांत होने के बाद आज परीक्षा की घड़ी आ गई है। राज्य में विधानसभा सत्र शुरू हो गया है जहां कांग्रेस विश्वास मत के साथ बहुमत साबित करने के लिए तैयार है। वहीं, भाजपा ने अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी में थी, लेकिन गहलोत ने अपनी चाल पहले ही चल दी। हालांकि, सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों के कांग्रेस में लौट आने के बाद हालात कांग्रेस के पक्ष में ही हैं।

राजस्थान में विधानसभा सत्र शुरू हो गया है। इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्विटर पर सत्यमेव जयते लिखा था। राजस्थान सरकार में कानून और संसदीय मामलों के मंत्री शांति कुमार धारीवाल ने कहा कि हम विश्वास मत ला रहे हैं, यह हमेशा पहले आता है। हमारे पास बड़ा बहुमत है। कांग्रेस की ओर से विश्वास मत प्रस्ताव का नोटिस देने के बाद सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई थी। दो घंटे बाद विधानसभा सत्र फिर शुरू हो गया है। अब धारीवाल ने विश्वास मत के लिए प्रस्ताव रखा है, जिस पर बहस जारी है।।