क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने मंगलवार को कहा कि वह कोविड-19 महामारी के कारण इस साल होने वाले टी20 विश्व कप को स्थगित करने के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के फैसले को स्वीकार करता है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने दोहराया कि ‘मौजूदा माहौल’ में 16 टीमों की मेजबानी करने में काफी जोखिम था। आईसीसी ने दो महीने से अधिक समय तक विभिन्न आपात योजनाओं पर चर्चा के बाद सोमवार को टी20 विश्व कप को स्थगित कर दिया था।

वैश्विक संस्था ने हालांकि अब तक फैसला नहीं किया है कि क्या भारत और ऑस्ट्रेलिया 2021 और 2022 में होने वाली प्रतियोगिताओं की आपस में अदला बदली करेंगे या नहीं। इन दोनों प्रतियोगिताओं का आयोजन अक्बतूर-नवंबर की विंडो में होना है।
सीए के अंतरिम मुख्य कार्यकारी और आईसीसी टी20 विश्व कप 2020 के मुख्य कार्यकारी अधिकारी निक हॉकले ने बयान में कहा, ‘कोविड-19 महामारी दुनिया भर में खेल टूर्नामेंटों को प्रभावित कर रही है और क्रिकेट भी इससे बचा हुआ नहीं है।’
उन्होंने कहा, ‘मौजूदा हालात में अक्तूबर में 16 टीमों की अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए मेजबानी करने में जटिलता और जोखिम आईसीसी के लिए टूर्नामेंट को स्थगित करने के लिए पर्याप्त थी।’  टी20 विश्व कप का आयोजन ऑस्ट्रेलिया में 18 अक्तूबर से 15 नवंबर के बीच किया जाना था लेकिन क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने मई में ही विक्टोरिया राज्य में कोरोना वायरस मामले बढ़ने के बाद टूर्नामेंट की मेजबानी में असमर्थता जताई थी।