भारत सरकार ने हाल ही में चीन के 59 मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध लगाया है। सरकार ने यह फैसला खुफिया एजेंसियों के सुझाव के बाद लिया है। कुछ दिन पहले खुफियां एजेंसियों ने सरकार 52 चाइनीज एप्स की लिस्ट सौंपी थी जिससे डाटा चोरी और सिक्योरिटी का खतरा था। सरकार द्वारा बैन किए गए एप्स में भारत में वायरल एप टिकटॉक भी है।

सरकार के इस फैसले पर टिकटॉक ने कहा कि मसले पर बातचीत के लिए उसे सरकारी की ओर न्योता मिला है। वहीं अब हाल ही में टिकटॉक के नए सीईओ बने केविन मेयर ने भारत सरकार को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने कहा है कि भारतीय यूजर्स का डाटा सिंगापुर के सर्वरों पर है और कंपनी की भारत में डाटा सेंटर बनाने की योजना है।

मेयर ने भारत सरकार को भेजे पत्र में लिखा, ‘मैं इस बात की पुष्टि कर सकता हूं कि चीनी सरकार ने भारतीय उपयोगकर्ताओं के डाटा के लिए हमसे कोई अनुरोध नहीं किया है। यदि हमें भविष्य में ऐसा कोई अनुरोध प्राप्त होता है, तो हम इसका अनुपालन नहीं करेंगे।’